Friday, 4 September 2015

othe amla te hone ne nebere ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े

                                           सूफी हीरे मोती 

पढ़ी नमाज ते रियाज़ न सिखया , तेरिया  किस  कम पढ़िया  नामाजा 
     ना  घर दीठा ना घरवाला  दीठा  , तेरिया किस कम कितिया नियाज़ा 
    इल्म  पढ़या ते अमल ना कीता ,तेरिया किस कम कितिया काजा 
    ,बुल्ले शाह पता तद लगसी जद ,चिड़ी  फसी हथ बाजा 

 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े ,किसे  नी   तेरी जात पुछणी  
 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े ,किसे  नी   तेरी जात पुछणी    
          
         जूठे मान तेरे जूठे सब चेहरे    
         किसे नइ तेरी बात पूछनी 
 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े ,किसे  नी  तेरी जात पुछणी 
            जो घड़या सो भजना इक दिन ,जो बण्या  सो ढेणा 
           आखिर छड्ने महल मीनारे ,बैठ सदा नही रहणा 
            चार दिना डा मेला   ऐहते बोती देर नही बैणा
           जो बीजेगा  सादक झल्या ओहि वडणा   पैणा 
          जोवी छेडा सादक चल्या ,ओहि मनणा   पैणा 

   ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े ,किसे  नी   तेरी जात पुछणी 
    ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े ,किसे  नी  तेरी जात पुछणी 
            कोल नइ बैणा बैन बरावा पल विच जा दफ़नाणा  
            टूर जाणा तेनु सब ने छड  ,बोता  चिर नइ लाणा 
             मुक जाणे सब जेणे तेरे  हेठ मिटी जद औणा 
             उस दिन सादक रुसे नु तेनु  किसे  नी  औंण मनाणा 
 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े ,किसे  नी   तेरी जात पुछणी 
           तेनु मोडा देके टोरना जहान ने 
            तेनु मोडा देके टोरना जहान ने 
           आणा मिटी थले तेरी ऊची शान ने 
           सुचे (सुजे )  छड के तू टुर जाणा वेड़े 
                          सूफी हीरे मोती 

 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े ,किसे  नी  तेरी जात पुछणी 
            जो घड़या सो भजना इक दिन ,जो बण्या  सो ढेणा 
           आखिर छड्ने महल मीनारे ,बैठ सदा नही रहणा 
            चार दिना डा मेला   ऐहते बोती देर नही बैणा
           जो बीजेगा  सादक चल्या ओहि वडणा   पैणा 
          जोवी छेडा सादक चल्या ,ओहि मनणा   पैणा 

   ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े ,किसे  नी   तेरी जात पुछणी 
    ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े ,किसे  नी  तेरी जात पुछणी 
            कोल नइ बेणा बैन बरावा पल विच जा दफ़नाणा  
            टूर जाणा तेनु सब ने छड  ,बोता  चिर नइ लाणा 
             मुक जाणे सब जेणे तेरे  हेठ मिटी जद औणा 
             उस दिन सादक रुसे नु तेनु  किसे  नी  औंण मनाणा 
 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े ,किसे  नी   तेरी जात पुछणी 
           तेनु मोडा देके टोरना जहान ने 
            तेनु मोडा देके टोरना जहान ने 
           आणा मिटी थले तेरी ऊची शान ने 
           सुचे छड के तू टुर जाणा वेड़े 
             किसी न तेरी जात पुछणी 
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी  तेरी जात पुछणी 
         झूठे मान ते आकड़ तेरी झुठिया  तेरियाँ  बाता 
         गल्ला नाल बनावे पल विच दिना नु कालिया राता 
        झूठे महल मनारे तेरे झुठिया  तेरियाँ जाता 
       अमला बाजो सादक उथे किसे न लेणिया बाता 
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी   तेरी जात पुछणी 
       किसे कोल घड़ी भर ना खलौणा ए 
       किती आपणी  नु सारेया ने रोणा ए 
     होणे वखो वख संगी साथी जेड़े 
       , किसी न तेरी जात पुछणी 
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी   तेरी जात पुछणी 
           पंछी वांगो उड़ जाणा ए इक दिन मार उडारी 
          कदर ऊना दी पैणी  उथे अमल जिना दे भारी 
          हर शे  छडणी पैणी बन्दया जान तो जैणी प्यारी 
          अज टुरया कोई कल टुर जाणा सादक वारो वारी  
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी    तेरी जात पुछणी 
           वे  बोल जबान तो बोल चंगा ,मिठे बोल दा जग असिर  हुँदा  
           मंदा बोल कदे मुओ कडिये न , मंदा बोल सजना तिखा तीर हुँदा 
           इक बोल जहान विचो रब दिंदा ,इक बोल मेरा अक्सीर हुँदा 
         चंगे बोल दे बोल्या शान ऊचा ,चंगे बोल दा चंगा अखीर हुँदा   
 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी    तेरी जात पुछणी 
        किसे  नइ  तेरी जात पुछणी 
 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी    तेरी जात पुछणी 
        किसे रोंदे  हसाया ई दस ना 
       किसे भुखे नु रजाया ई ते दस ना 
       राह चो कदे रोणे नु हटाया ई  दस ना 
       कदे जख्मी किसे दा फट नइ सीता 
       ऐवे  फिर कख नही कीता
 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी  तेरी जात पुछणी
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी   तेरी जात पुछणी
          किसे  नी    तेरी जात पुछणी 
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी  तेरी जात पुछणी 
         झूठे मान ते आकड़ तेरी झुठिया  तेरियाँ  बाता 
         गल्ला नाल बनावे पल विच दिना नु कालिया राता 
        झूठे महल मनारे तेरे झुठिया  तेरियाँ जाता 
       अमला बाजो सादक उथे किसे न लेणिया बाता 
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी   तेरी जात पुछणी 
       किसे कोल घड़ी पल  ना खलौणा ए 
       किती आपणी  नु सारेया ने रोणा ए 
     होणे वखो वख संगी साथी जेड़े 
       , किसे  नी तेरी जात पुछणी 
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी   तेरी जात पुछणी 
           पंछी वांगो उड़ जाणा ए इक दिन मार उडारी 
          कदर ऊना दी पैणी  उथे अमल जिना दे भारी 
          हर शे  छडणी पैणी बन्दया जान तो जैणी प्यारी 
          अज टुरया कोई कल टुर जाणा सादक वारो वारी  
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी    तेरी जात पुछणी 
           वे  बोल जबान तो बोल चंगा ,मिठे बोल दा जग असिर  हुँदा  
           मंदा बोल कदे मुओ कडिये न , मंदा बोल सजना तिखा तीर हुँदा 
           इक बोल जहान विचो रब दिंदा ,इक बोल मेरा अक्सीर हुँदा 
         चंगे बोल दे बोल्या शान ऊचा ,चंगे बोल दा चंगा अखीर हुँदा   
 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी    तेरी जात पुछणी 
        किसे  नइ  तेरी जात पुछणी 
 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी    तेरी जात पुछणी 
        किसे रोंदे  हसाया ई दस ना 
       किसे भुखे नु रजाया ई ते दस ना 
       राह चो कदे रोणे नु हटाया ई  दस ना 
       कदे जख्मी किसे दा फट नइ सीता 
       ऐवे  फिर कख नही कीता
 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी  तेरी जात पुछणी
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी   तेरी जात पुछणी
        राह छडया बयानकदारी  दा 
        वल दसे चोरी  चकारी ,यारी दा 
        कर नास न नेको करी दा 
       नेका नु बदी सिखावे तू 
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी  तेरी जात पुछणी
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी   तेरी जात पुछणी
       लुक लुक के सौदे करना ये 
      बिन मेहनत बोझे भरना ये 
      पर ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी  तेरी जात पुछणी
          ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी   तेरी जात पुछणी
    लुक लुक के सौदे करना ये 
    बिन मेहनत बोझे भरना ये 
   सादा नु चोर बनावे तू 
   तू न अल्ला कोलो डरना ये 
 पर 
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी  तेरी जात पुछणी
 ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी   तेरी जात पुछणी
   पहले अमला दी खुलणा  किताब ने 
    पहले अमला दी खुलणा  किताब ने 
   पहले अमला दी खुलणा  किताब ने 
    पहले अमला दी खुलणा  किताब ने 
वेखे जाणे फिर सबदे हिसाब ने 
सादक आपो आप होणे  ने नाखेणे
   किसे  नी  तेरी जात पुछणी
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी  तेरी जात पुछणी
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी   तेरी जात पुछणी
     पहले अमला दी खुलणा  किताब ने 
      वेखे जाणे फिर सबदे हिसाब ने 
      वेखे जाणे फिर सबदे हिसाब ने 
      वेखे जाणे फिर सबदे हिसाब ने 
      वेखे जाणे फिर सबदे हिसाब ने 
 किसे  नी  तेरी जात पुछणी
ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी  तेरी जात पुछणी

ओथे अमला ते होणे ने नाबेड़े , किसे  नी   तेरी जात पुछणी



bulleh shaw

                                                               bulleh shah










चढ़दे सूरज ढलदे देखे... बुझदे दीवे बलदे देखे।
हीरे दा कोइ मुल ना जाणे.. खोटे सिक्के चलदे देखे।
जिना दा न जग ते कोई, ओ वी पुतर पलदे देखे।
उसदी रहमत दे नाल बंदे पाणी उत्ते चलदे देखे।
लोकी कैंदे दाल नइ गलदी, मैं ते पथर गलदे देखे।
जिन्हा ने कदर ना कीती रब दी, हथ खाली ओ मलदे देखे ....
पैरां तो नंगे फिरदे, सिर ते लभदे छावा,

मैनु दाता सब कुछ दित्ता, क्यों ना शुकर मनावा ....
*****************************************************************************8

मके गया गल मुकदी नाही


मके गया गल मुकदी नाही

पावैं सौ सौ जुम्मे पढ़ाइये

गंगा गया गल मुकदी नाही

पावैं सौ सौ गोते खाईय

गया गया गल मुकदी नाही

पावैं सौ सौ पंड परढ़ाईय

बुल्लेह शाह गल ताइयों मुकदी

जदो में नु दिलो मुकाइये


पढ़ पढ़ आलम फ़ाज़ल होया

कदे आपणे आप नु पढ़या ई नइ

जा जा वरणा ए मंदिर मसीता

कदे मन आपणे विच वरणा इ नइ

ऐवें इ रोज़ शैतान नाल लड़ना ए

कदे नफ़्स आपणे नाल लड़या इ नइ नफ़्स ego,self,lust,मन ,अहंकार

बुल्लेह शाह आसमानी उड़निया फड़ना ए

जेड़ा घर बैठा ए ऊनु फड़या ई नइ

सिर ते टोपी ते नियत खोटी

लेणा की टोपी सिर तर के

चिले किते पर रब ना मिल्या Tasbih is Mala in Hindi माला

लेणा की चिल्या विच वड़ के

तस्बीह फिरि पर दिल न फिरया

लेणा की तस्बीह हथ फड़

बुल्लेहा जाग बिना दुध नही जमदा

पावें लाल होवे कड़ कड़ के




********************************************************************************


बुल्ला की जाना मैं कौन

ना मैं मोमन विच मसीतां न मैं विच कुफर दीयां रीतां
न मैं पाक विच पलीतां, न मैं मूसा न फरओन
बुल्ला की जाना मैं कौन

न मैं अंदर वेद किताबां, न विच भंगा न शराबां
न रिंदा विच मस्त खराबां, न जागन न विच सौण
बुल्ला की जाना मैं कौन
न मैं शादी न गमनाकी, न मैं विच पलीती पाकी
न मैं आबी न मैं खाकी, न मैं आतिश न मैं पौण
बुल्ला की जाना मैं कौन
न मैं अरबी न लाहौरी, न मैं हिंदी शहर नगौरी
न हिंदू न तुर्क पिशौरी, न मैं रेहदंा विच नदौन
बुल्ला की जाना मैं कौन

न मैं भेत मजहब दा पाया, न मैं आदम हव्वा जाया
न मैं अपना नाम धराएया, न विच बैठण न विच भौण
बुल्ला की जाना मैं कौन
अव्वल आखर आप नू जाणां, न कोई दूजा होर पछाणां
मैंथों होर न कोई स्याना, बुल्ला शौह खड़ा है कौन
बुल्ला की जाना मैं कौन


******************************************************************************





सोहने मुखड़े दा लैन दे नज़ारा वे केहडा तेरा मुल्ल लगदा

sohne mukhde da lain de nazara ve kehda tera mul lagda

सोहने मुखड़े दा लैन दे नज़ारा,
वे केहडा तेरा मुल्ल लगदा ।
एहना अंखिया दा होण दे गुजारा,
वे केहडा तेरा मुल्ल लगदा ॥

हुसन तेरे दी खैर मनावां,
जे तक्क लै तां मैं तर जावां ।
ऐवें निक्का जेहा कर दे इशारा,
वे केहडा तेरा मुल्ल लगदा ॥
*********************************************************************************



जे रब मिलदा नाहते धोते
जे रब मिलदा नाहते धोते
ते मिलदा ड्ड्डूआ मछिआं नु
जे रब मिलदा जंगल फिरया

ते ओ मिलदा गैयाँ बछिय नु
जे रब मिलदा मंदिर मसीति
ते ओ मिलदा चम चिड़िखियां नु
वे बुलया रब ऊना नु मिलदा
दिल दया अच्छाया सचियां नु (नियता जिना दिया अच्छियाँ नु ) Je rab milda nahateya dhoteya,

te o milda dadduan machiyan noo.

Je rab milda jangal pahareyan,

te o milda gaiyaan bachiyan noon.

Je rab milda mandir - masiti,

te o milda cham chidikhiyan noon.

Ve Bulleya rab onhan noon milda..

Ati dil-eya achiyyan sachhiya noon.


हम किया बनाने आये थे
हम किया बनाने आये थे और किया बना बैठे
कहीं मंदिर बना बैठे कहि मस्जिद बना बैठे 
हम से तो अच्छी परिंदो की जात है
कभी मंदिर पे जा बैठे
कभी मस्जिद पे बैठे




Hum Kya Banane Aaye the Kya Bana baithe
Kahi Mandir, Kahi Masjid, kahi kaabba bana Baithe
Hum Se to Jaat Achi hai un Parindon Ki
Kabhi mandir par Jaa Baithe
Kabhi Masjid Par Jaa Baithe...






5 comments:

  1. KMAal kia he likhnay wale ne

    ReplyDelete
  2. i was searching this hymn in hindi but i could not find you did a ob ,,nice ,,pls complete it in hindi .there are still two para left

    ReplyDelete
  3. beautiful heart touching lines

    ReplyDelete
  4. U did a job lyric in hindi

    ReplyDelete